विज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी और संचार

72 सेवाएं

भारतीय समाचार पत्रों के पंजीयक कार्यालय में समाचार पत्र पंजीकरण आवेदन की स्थिति ऑनलाइन पता करें

  •   पूरी तरह से ऑनलाइन

भारतीय समाचार पत्रों के पंजीयक के पास समाचार पत्र, पत्रिका और अन्य प्रकाशनों के शीर्षकों के खिताब के पंजीकरण के लिए दिए आवेदन की वर्तमान स्थिति की जानकारी लें। आप अपने आवेदन की स्थिति राज्य, जिला, मालिक का नाम और जिला दंडाधिकारी की जानकारी की मदद से खोज सकते हैं।

डीड पंजीकरण के लिए ई-स्टैंपिंग

  •   पूरी तरह से ऑनलाइन

प्रयोक्ता इस सेवा का इस्तेमाल डीड पंजीकरण के लिए अपेक्षित स्टैंप ड्यूटी का भुगतान करने के लिए कर सकते हैं और ई-स्टाम्प पेपर निकालने में भी कर सकते हैं।

  • यहां भी उपलब्ध है   
    पंजीकरण आवश्यक   
  • अधिक

एनआईसी ई-मेल सेवाएं

  •   पूरी तरह से ऑनलाइन

ईमेल से संबंधित सेवाओं में नए ईमेल खाते बनाना, निष्क्रिय खातों को सक्रिय करने, पासवर्ड रिसेट करने, आईएमएपी समर्थ सुविधाओं आदि जैसे विभिन्न क्षेत्र शामिल हैं। केंद्र सरकार की यह प्रणाली हरियाणा सरकार के लाभ के लिए लागू की जा रही है । प्रयोक्ताओं को तकनीकी सहायता तथा हैंडलिंग सर्विस डैस्क/हेल्पडैस्क मामले भी इस प्रणाली का हिस्सा है। ई-मेल एकाउंट देखने के लिए वेबसाइट https://mail.gov.in पर जाते हैं। नए एकाउंट खोलने, आईएमएपी समर्थित सेवाओं आदि जैसी सेवाओं के लिए प्रयोक्ता को ‘डाउनलोड फॉर्म’ के अंतर्गत दिए गए ऑनलाइन प्रपत्र को भरना होता है। सभी औपचारिकताओं के बाद भरा गया प्रपत्र आवश्यक कार्रवाई हेतु हमें भेजा जाना होता है।

हरियाणा: सरकारी ई-मेल सेवा के तहत नीतियां

  •   सूचनात्‍मक

भारत सरकार की ई-मेल पॉलिसी,ई-मेल खाता प्रबंधन और प्रभावी ई-मेल उपयोग के लिए दिशानिर्देश,भारत सरकार की ई-मेल पॉलिसी की राजपत्र अधिसूचना, भारत सरकार के आईटी संसाधनों के उपयोग पर नीति,सरकारी नेटवर्क पर आईटी उपकरणों के उपयोग के लिए दिशानिर्देश,भारत सरकार के आईटी संसाधनों के उपयोग पर नीति की राजपत्र अधिसूचना,ई-मेल पते के स्वरूप पर एनआईसी पॉलिसी,ईमेल सेवाओं और उपयोग नीति,पासवर्ड नीति,उपयोगकर्ता के लिए सुरक्षा नीति,सेवा स्तर समझौता,वितरण सूची सेवाओं के लिए नीति

हरियाणा: एसएमएस सेवा पंजीकरण

  •   आंशिक रूप से ऑनलाइन

इस सेवा के वेब सर्वर पर होस्ट अनुप्रयोगों से एसएमएस भेजने के लिए एसएमएस सर्वर तक अभिगम के लिए प्रयोग किया जाता है। आवेदकों को वेबसाइट https://mail.gov.in पर दिए गए प्रपत्र को भरने की जरूरत होती है। भरे गए फॉर्म को विभिन्न औपचारिकताओं के बाद आगे की कार्रवाई के लिए हमें भेजा जाना होता है। किसी भी भाषा में एसएमएस भेजें,हाल में लॉग इन इतिहास देखें और दूरस्थ रूप से एक लॉगिन को अक्षम करें,त्वरित एसएमएस कंसोल को किसी भी उप उपयोगकर्ता को अनुमति देने के लिए विकल्प,नियंत्रित करें कि आपके संदेश में हस्ताक्षर कैसा दिखेगा,अपने पिछले तीन महीने के एसएमएस इतिहास देखें,अपने स्वयं के या सहयोगी के मेलबॉक्स पर ईमेल भेजें,पिछली लॉन्च में पॉप-अप विंडो के विपरीत सुविधाओं का उपयोग करने के लिए अव्यवस्था रहित और उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस,अनुक्रियाशील वेब डिजाइन (मोबाइल फोन में भी आकर्षक और उपयोगकर्ता के अनुकूल डिजाइन)

हरियाणा: एनआईसी ई-मेल सेवाएं

  •   आंशिक रूप से ऑनलाइन

ईमेल से संबंधित सेवाओं में नए ईमेल खाते बनाना, निष्क्रिय खातों को सक्रिय करने, पासवर्ड रिसेट करने, आईएमएपी समर्थ सुविधाओं आदि जैसे विभिन्न क्षेत्र शामिल हैं। केंद्र सरकार की यह प्रणाली हरियाणा सरकार के लाभ के लिए लागू की जा रही है । प्रयोक्ताओं को तकनीकी सहायता तथा हैंडलिंग सर्विस डैस्क/हेल्पडैस्क मामले भी इस प्रणाली का हिस्सा है। ई-मेल एकाउंट देखने के लिए वेबसाइट https://mail.gov.in पर जाते हैं। नए एकाउंट खोलने, आईएमएपी समर्थित सेवाओं आदि जैसी सेवाओं के लिए प्रयोक्ता को ‘डाउनलोड फॉर्म’ के अंतर्गत दिए गए ऑनलाइन प्रपत्र को भरना होता है। सभी औपचारिकताओं के बाद भरा गया प्रपत्र आवश्यक कार्रवाई हेतु हमें भेजा जाना होता है।

मिजोरम रिमोट सेंसिंग: मिजोरम का ड्रेनेज मानचित्र

  •   सूचनात्‍मक

मिजोरम का ड्रेनेज मानचित्र

मिजोरम रिमोट सेंसिंग: मिजोरम का भूमि उपयोग / कवर मानचित्र

  •   सूचनात्‍मक

मिजोरम का भूमि उपयोग और भूमि कवर मानचित्र

हरियाणा: संचार और संपर्क की अनुमति (ऊपर के मैदान)

  •   पूरी तरह से ऑनलाइन

मोबाइल टावर्स स्थापित करने के लिए इस सेवा का उपयोग एक उद्योगपति द्वारा किया जाता है आवेदन कैसे करें: इस सेवा का लाभ उठाने के लिए, निवेशक को https://investharyana.in पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। आगे एक समग्र आवेदन पत्र भरना है। इसके बाद निवेशक उपलब्ध सेवाओं की सूची से इस सेवा का विकल्प चुन सकता है।

हरियाणा: संचार और कनेक्टिविटी की अनुमति (नीचे का मैदान)

  •   पूरी तरह से ऑनलाइन

अंतर्निहित केबल्स में बिछाने के लिए एक उद्योगपति द्वारा इस सेवा का उपयोग किया जाता है। आवेदन कैसे करें: इस सेवा का लाभ उठाने के लिए, निवेशक को https://investharyana.in पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। आगे एक समग्र आवेदन पत्र भरना है। इसके बाद निवेशक उपलब्ध सेवाओं की सूची से इस सेवा का विकल्प चुन सकता है।