पेंशन और लाभ

1447 सेवाएं

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का लाभ लेने के लिए नामांकन करें

  • Service Maturity Icon  पूरी तरह से ऑनलाइन

पात्र लाभार्थी प्रधान मंत्री श्रम योगी मानधन योजना से लाभ प्राप्त करने के लिए या तो स्व नामांकन या सीएससी के माध्यम से नामांकन कर सकते हैं

आधार कार्ड के विवरण ऑनलाइन देखें

  • Service Maturity Icon  पूरी तरह से ऑनलाइन

अपने आधार कार्ड के विवरण की जांच ऑनलाइन करें। साथ ही आप कागज पर एक प्रिंट आउट भी निकाल सकते हैं। आप कुछ विवरण जैसे कि नामांकन संख्या, दिनांक, समय, निवासी नाम और पिन कोड की जानकारी देकर ऑनलाइन कार्ड हासिल कर सकते हैं।

पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए)

  • Service Maturity Icon  सूचनात्‍मक

पीएफआरडीए लोगों की वृद्धावस्था आय आवश्यकताओं को सतत आधार पर पूरा करने के लिए राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) नामक संगठित पेंशन निधि को प्रोत्साहित, विकसित और विनियमित करता है।

प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई)

  • Service Maturity Icon  सूचनात्‍मक

पीएमजेडीवाई वित्तीय समावेशन संबंधी राष्ट्रीय मिशन है, जो देश के सभी परिवारों को व्याापक वित्तीीय समावेशन के तहत लाने की पहल है।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, उत्तर प्रदेश

  • Service Maturity Icon  पूरी तरह से ऑनलाइन

सामाजिक कुरीतियों को दूर करने हेतु सरकारी और गैर-सरकारी स्तर पर निरन्तर प्रयास भी किये जा रहे हैं। इस परिवेश के दृष्टिगत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के रूप में नई पहल की जा रही है।

जन सुरक्षा

  • Service Maturity Icon  सूचनात्‍मक

विशेषकर गरीब और सुविधा से वंचित लोगों के लिए सार्वभौमिक समाजिक सुरक्षा प्रणाली तैयार करने के लिए निम्न योजनाएं उपलब्ध हैं: 1. प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) पीएमजेजेबीवाई 18 से 50 वर्ष की आयु के व्यक्तियों, जिनका बैंक में खाता है, के लिए जीवन बीमा योजना है। यह योजना 330 रुपए प्रति वर्ष के प्रीमियम पर 2 लाख रुपए का नवीकरणीय बीमा कवरेज उपलब्ध कराती है। 2. प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) पीएमएसबीवाई 18 से 70 वर्ष की आयु के व्यक्तियों, जिनका बचत बैंक खाता है, के लिए दुर्घटना बीमा योजना है। 12 रुपए प्रति वर्ष के प्रीमियम पर योजना के तहत जोखिम कवरेज दुर्घटना मृत्यु और पूर्ण विकलांगता के लिए 2 लाख रुपए है और आंशिक विकलांगता के लिए 1 लाख रुपए है। 3.अटल पेंशन योजना (एपीवाई) एपीवाई पेंशन योजना 18 से 40 वर्ष की आयु के उन सभी व्यक्तियों के लिए है जिनका बैंकों/डाकघर में बचत बैंक खाता है। उपभोक्ता परिभाषित योगदान के आधार पर 60 वर्ष की आयु से ही गारंटीकृत मासिक पेंशन प्राप्त करेंगे। यह योजना पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) द्वारा राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) के समग्र प्रशासनिक और संस्थागत ढांचे के तहत प्रशासित की जाती है।

तेलंगाना विकलांगुला सहकारी निगम - सूचना

  • Service Maturity Icon  सूचनात्‍मक

यह साइट तेलंगाना विकलांगुला को-ऑपरेटिव कॉरपोरेशन (टीवीसीसी) के बारे में स्व-रोजगार उद्यमों, उद्यमिता, शिक्षा और सामाजिक और आर्थिक विकास हेतु कौशल विकास प्रशिक्षण के लिए पात्र पीडब्ल्यूडी हेतु रियायती वित्तीय सहायता प्रदान करने के एक मिशन के साथ जानकारी प्रदान करती है।

जियो पारसी

  • Service Maturity Icon  सूचनात्‍मक

वैज्ञानिक प्रोटोकॉल और व्यवस्थित हस्तक्षेप अपनाकर पारसी जनसंख्या का गिरावट रोकना, उनकी जनसंख्या को स्थिर करना और भारत में पारसी जनसंख्या वृद्धि करना।

केंद्रीय पेंशन लेखा शिकायत प्रपत्र

  • Service Maturity Icon  पूरी तरह से ऑनलाइन

प्रयोक्‍ता पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग की पेंशन शिकायत प्रकोष्ठ के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। पेंशन शिकायत प्रकोष्ठ के कार्यों पर जानकारी प्रदान की गई है।  पेंशन शिकायत प्रकोष्ठ में जानकारी प्राप्त करें, कार्मिक मंत्रालय, पेंशन, पेंशन विभाग शिकायत प्रकोष्‍ठ, पेंशन शिकायत प्रकोष्‍ठ, पेंशन शिकायतों पर मीडिया, लोक शिकायत

सामाजिक सुरक्षा पेंशन, झारखंड

  • Service Maturity Icon  पूरी तरह से ऑनलाइन

यह सेवा झारखंड सरकार के दिशानिर्देशों के आधार पर झारखंड के निवासीयों को आय प्रमाणपत्र प्रदान करती है। आवेदक सीएससी और जन सुविधा केंद्रों के माध्यम से स्वयं पंजीकरण के बाद झारसेवा पोर्टल के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। इसमें इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन 80 साल और उससे ऊपर, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन 80 वर्ष से कम, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विकलांगता पेंशन जैसे राष्ट्रीय सामाजिक कल्याण पेंशन शामिल हैं। यह राज्य सामाजिक सुरक्षा, ओल्ड एज पेंशन और राज्य विद्या सम्मन योजना जैसे राज्य कल्याण योजनाओं को भी शामिल करता है ।